योगदानकर्ता

27 फ़रवरी 2014

अरे तू भी !!!

"अबे इतनी मत अकड आखिर हैं तो लड़की ही ना ! "
"तो तू लड़का हैं तो क्या कुछ भी कह सकता ?"
"ज्यादा मत बोल थप्पड़ भी लगा दूंगा !"
"इसलिय अपने साथ लाया था क्या !!"
"तुम चुप रहा करो जो मैं कहू किया करो "
"क्यों मेरी भी कोई मर्ज़ी हैं की नही "
"ज्यादा बोलती हैं साली ! जब देखो बकर बकर "
उह्ह्हू हुह्ह्हू
"जा ओ अब मुझे तो बात ही नही करनी मेरी तो किस्मत ही ख़राब "
हा हा हा हा !
"तू तो मेरी मम्मी की तरह बाते कर रही ,"
हा हा हा हा
अरे हा हा हा हा
"तू भी तो मेरे पापा की तरह लड़ रहा हैं "

फिर दोनों की एक साथ हंसने की आवाज़ से पार्क गुलजार हो उठा
 —
एक टिप्पणी भेजें